My Oil Painting

Visit My Photos - 9 Pics
My Oil Painting

और भी कुछ रचा है यहाँ

भोर की पहली किरण मन से मनव्योम तक ---- http://bhorkipehlikiran.blogspot.com/

शुक्रवार, 5 मार्च 2010

मेरी फोटोग्राफी

चंचल लहरें 
चंचल सागर 
चंचल संध्या 
चंचल भास्कर 
और चंचल 
दो बचपन !

3 टिप्‍पणियां:

  1. चंचल लहरें
    चंचल सागर
    चंचल संध्या
    चंचल भास्कर
    और चंचल
    दो बचपन !


    LAJWAAB PANKTIYAA.....

    उत्तर देंहटाएं
  2. सुन्दर फोटोग्राफी

    विकास पाण्डेय
    www.विचारो का दर्पण.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  3. फोटो ग्राफी ने प्रभावित किया.
    कविता भी सुन्दर..लेकिन यदि अंतिम पंक्ति में सिर्फ बचपन भी रखें तो कविता अर्थ स्पष्ट करती है.तो क्यों न यहाँ से दो शब्द को हटा दिया जाए.

    उत्तर देंहटाएं

Click here to comment in hindi